Breaking News
उत्तराखंड के प्रसिद्ध इतिहासकार डॉ. यशवंत सिंह कठोच पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित 
दांत दर्द और मुंह की बदबू से हैं परेशान, तो हो सकती है शरीर में इन विटामिंस की कमी
ऑर्डिनेटर राजीव महर्षि के नेतृत्व में कांग्रेसी नेताओं ने लिया ईवीएम की सुरक्षा का जायजा
मोदी सरकार ने जनजातीय समाज को देश की मुख्यधारा से जोड़ा- महाराज
पर्यावरण संरक्षण आज के समय की बड़ी जरुरत
मुख्य सचिव ने केदारनाथ धाम के कार्यों का लिया जायजा
जोमैटो से खाना मंगाना हुआ महंगा, जानिए कितना प्रतिशत बढ़ा चार्ज
लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने एक और लिस्ट की जारी, जानें- किसे कहां से दिया टिकट
आईपीएल 2024 के 38वें मैच में आज राजस्थान रॉयल्स से भिड़ेगी मुंबई इंडियंस

सोशल मीडिया पर टॉप में ट्रेंड हुई दलित विरोधी कांग्रेस, आमने-सामने भाजपा- कांग्रेस के दिग्गज

दलित युवक की शिकायत पर हुई पत्रकार आशुतोष नेगी की गिरफ्तारी – मनवीर चौहान

देहरादून। उत्तराखंड कांग्रेस के दलित विरोधी रवैये को लेकर सोशल मीडिया पर उत्तराखंड कांग्रेस के प्रति खासी नाराजगी दिखी। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि बृहस्पतिवार को सोशल मीडिया के X (ट्विटर) प्लेटफॉर्म पर हैशटैग दलित विरोधी कांग्रेस टॉप ट्रेंडिंग में रहा। दरअसल उत्तराखंड पुलिस ने एससीएसटी एक्ट के मामले में मंगलवार को पत्रकार आशुतोष नेगी को गिरफ्तार किया था। उत्तराखंड कांग्रेस ने अनुसूचित जाति समाज से जुड़े इस मामले को राजनीतिक रंग देने की नाकाम कोशिश की। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल समेत कई नेता दलितों की भावना को दरकिनार कर आशुतोष नेगी के समर्थन में कूद पड़े, जिससे कांग्रेस का दलित विरोधी चेहरा बेनकाब हो गया।

बृहस्पतिवार को सोशल मीडिया के एक्स (ट्विटर) प्लेटफॉर्म पर यूजर्स ने हैशटैग दलित विरोधी कांग्रेस से उत्तराखंड कांग्रेस के दलित विरोधी रवैये के प्रति अपनी नाराजगी जताई। शाम तक यह हैशटैग ट्विटर के टॉप ट्रेंड्स में बना रहा। वहीं यूजर्स ने लिखा कि कांग्रेस ने हमेशा दलित और कमजोर वर्ग का उत्पीड़न किया है। अनुसूचित जाति के लिए अपशब्दों का अपमान करने वाले आशुतोष का साथ देकर कांग्रेस ने पूरे समुदाय का अपमान किया है।

मामले को अंकिता हत्त्याकांड से जोड़ने की कोशिश दुःखद और अपमान जनक – मनवीर चौहान

वहीं भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि एक दलित युवक की शिकायत के बाद हुई गिरफ्तारी से कांग्रेस ने जो विरोध का रूप दिखाया है उससे उसका दलित विरोधी चेहरा सामने आ गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने राजनैतिक स्वार्थ के लिए मामले को अंकिता भंडारी हत्याकांड से जोड़ने की कोशिश भी कर रही है जो कि दुखद और निंदनीय है। ममवीर चौहान ने कहा कि प्रकरण की पृष्ठभूमि मे आशुतोष नेगी को राजेश कोली (राजा कोली) की लिखित शिकायत पर SC-ST एक्ट के तहत पुलिस द्बारा कार्यवाही करते हुए गिरप्तार किया गया है। इस मामले का अंकिता हत्त्याकांड से कोई ताल्लुक नही है। लेकिन कांग्रेस दलित विरोधी है और न्यायोचित कार्यवाही पर सवाल उठा रही है। कांग्रेस केवल दलितों को बोट बैंक समझती है और जब दलितों पर अत्याचार होते है तो उस पर कांग्रेस का हमेशा दोहरा चरित्र देखने को मिलता है।

जहाँ तक अंकिता प्रकरण का सवाल है तो कांग्रेस इस पर शुरू से ही राजनीति करती आई है। कांग्रेस कई अभियान इसे लेकर चला चुकी है, लेकिन जनता ने उसे तवज्जो नही दी। प्रकरण न्यायालय मे है और आरोपी आज सलाखों के पीछे हैं। मामले की सुनवाई चल रही है। कांग्रेस अभी भी वैसे ही दुष्प्रचार कर रही है जैसे वह शुरुआती दौर से करती रही है। उसे अंकिता को न्याय दिलाने मे कोई दिलचस्पी नही, बल्कि वह राजनैतिक रोटियां भर सेकने की कोशिश कर रही है।

मनवीर चौहान ने कहा कि कांग्रेस का मकसद अंकिता के न्याय की लडाई को भटकाना है जबकि भाजपा इस राज्य की बेटी को न्याय दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। एजेंडे के रूप मे काम कर रही कांग्रेस दलित युवक का विरोध करते हुए अंकिता की लडाई से ध्यान भटकाने तक पहुँच गयी और दलित समुदाय का भी विरोध कर बैठी। इसे न दलित समुदाय माफ करेगा और न ही अंकिता को न्याय दिलाने के लिए लड़ रहे लोग। चौहान ने कांग्रेस को नसीहत दी कि वह राजनैतिक स्वार्थ के लिए दुष्प्रचार और जन भावनाओं से खिलवाड बन्द करे। जनता उसकी इस तरह की हरकतों को बेहतर जानती है। अंकिता मामले मे हुई जांच को लेकर कोर्ट से लेकर जनता ने संतोष जताया है और सरकार राज्य की बेटी को न्याय दिलाने को प्रतिबद्ध है।

करन माहरा ने सरकार को घेरा

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि अंकिता भंडारी हत्याकांड में परिजनों की हर मदद करने वाले पत्रकार आशुतोष नेगी को जबरन सरकार फंसाने की कोशिश कर रही है। एससी एसटी केस में उनकी गिरफ्तारी की गई है। जबकि, उस केस पर राजस्व उपनिरीक्षक ने अपनी क्लोजर रिपोर्ट लगाई थी, लेकिन उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेशभर में कांग्रेस के कार्यकर्ता इसका विरोध करेंगे।

सरकार पर बरसे गणेश गोदियाल

वहीं, कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि सरकार ने पत्रकार आशुतोष नेगी पर दूसरा मुकदमा तक दर्ज कर दिया है, जबकि उन्हें पुलिस सुरक्षा में ले जाया जा रहा था। इतनी सुरक्षा में अकेला आशुतोष नेगी पुलिस के कपड़े कैसे फाड़ सकता है और कैसे सरकारी काम में बाधा डाल सकता है? ये सरकार आंदोलनों को कुचलने वाली सरकार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top