Wednesday, October 5, 2022
Home अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस पर 'उफ्फ ये बच्चे' लेखिका सुनीता चौहान की कलम से

बाल दिवस पर ‘उफ्फ ये बच्चे’ लेखिका सुनीता चौहान की कलम से

लेखिका सुनीता चौहान की कलम से……

बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ 💐

उफ्फ ये बच्चे🙂…….

चलो कुछ देर के लिए ही सही
बच्चो की दुनिया में रम जाये
छल-प्रपंच से भरे मन
संभवतः हल्के हो जाये

जब मेरे ज़हन में पंक्तियाँ आयी थी,तब मेरा मन कल्पना के
रंग में रंगा हुआ था या शायद अपने बचपन के समय को महसूस किया था।पर क्या आज के परीप्रेक्ष्य में यह संभव है कि हम बच्चो के किसी समूह में जाये और सारे बच्चे खुशी से चहकते मिले।
किसी भी तरह का तनाव,दबाव,हताशा,कुंठा उनके कोमल मन में न हो?
जवाब हम सभी जानते है।आज नर्सरी से लेकर स्कूल कालेजों
तक बस नम्बरों की होड़ है।नम्बरों के बोझ तले बचपन की मासूमियत,सरलता,स्वाभाविकता कहीं खो गयी है।
छोटी सी उम्र और खेलने-कूदने के वक्त को सीमित धागो में
बांध दिया ,और भारी-भरकम किताबों की दुनिया में
धकेल दिया जाता है।जो बचपन प्रकृति के सानिध्य में रहकर
फूलों सा खिल सकता,पंछियों के कलरव सा चहक सकता था
उसे हमने किताबों की जंग का सिपाही बना दिया।नन्हे मासूम
मनो की परतों पर कब पढ़ाई का तनाव,दबाव बढ़ता चला गया
मालूम ही नही पड़ा।
हमने सफलता के नये मापदंड तैयार कर लिये।90%प्रतिशत
या उससे अधिक नम्बरों की मार्गसीट सफलता की गारंटी
मानी जाने लगी।
आश्चर्य तो तब होता है जब रिपोर्टकार्ड देखकर माता पिता के
प्यार का ग्राफ घटता-बढ़ता रहता है।
आज हर माँल,बड़ी दुकानों में माता-पिता मंहगे खिलौने ब्रांडेड
कपड़े खरीदते हुए दिखाई देते है।बच्चो के मन में मंहगी चीजो
के प्रति आकषर्ण हम ही पैदा करते है। आज हममें से कितने लोग अपने बच्चों को बाजारों की चमक धमक से दूर प्रकृति
के करीब लेकर जाते है।शायद उनकी संख्या न के बराबर है।
हम बच्चों को 👶👶किताबों से ए फार एप्पल और अ से
अनार तो सिखाते है,किन्तु अपने घरों में या आस-पास लगे
पेड़ पौधे,फूल 🌺🌻🌹🌷पत्तियाँ,फलो से उनका परिचय
कराना भूल जाते है,किताबों की दुनिया में ले जाते हुए जाने
अनजाने प्रकृति🌿🍃 की कक्षा से उनको दूर ले जाते है।
और ज्ञान के अपरिमित बहते स्तोत्र को नजरअंदाज
कर बैठते है,,और फिर प्रकृति के विपरीत जाने
परिणाम भुगतते है।
हम खुद ही उनके सामने भौतिकता के रस में डूबी चीजें परोस
रहे,फिर जब उनके मानसिक,शारीरिक स्वास्थ्य पर कुप्रभाव
पड़ता है तो समझ नही पाते ये क्या हो रहा है?
कहाँ खो गया वो बचपन जब मन किसी भेदभाव को नही मानता
था,दो़स्ती ब्रांडेड चीजो की मोहताज नही थी,उनकी आंखो में
अजनबी के लिए भी विश्वास झलकता था।
बहुत कुछ बदल रहा है ,निश्चित तौर पर बदलाव विकास का सोपान है,पर बचपन की मासूमियत का यूं बदलना या यूँ कहे कि
बचपन का वक्त से पहले परिपक्व होना क्या आने वाले समय के लिए शुभ संकेत है?या हमें खुद के आंकलन की जरूरत आन पडी़ है,भौतिकतावादी सोच जो हमारे भीतर फल-फूल रही है,उसमें अंकुश लगाने को जरूरत है।
आखिर हमारे विचारों की तरंगो से हमारे नौनिहाल तो प्रभावित
होते ही है।तो क्यों न कुछ ऐसा संकल्प ले जिससे उनकी मासूमियत बची रहे।

RELATED ARTICLES

केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए जल्द मिलेंगी तिरुपति बालाजी जैसी सुविधाएं

देहरादून। प्रसिद्ध केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए तिरुपति बालाजी ट्रस्ट सुविधाओं में मददगार बनेगा। सात अक्तूबर को आंध्र प्रदेश...

एवलांच में फंसे नौ प्रशिक्षकों के शव बरामद, 25 अभी भी लापता, रेस्क्यू जारी, एसडीआरएफ की पांच टीमें रवाना, सीएम ने रक्षा मंत्री से...

देहरादून। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में डोकरानी बामक ग्लेशियर में आज एवलांच हो गया। जानकारी के अनुसार, एवलांच की चपेट में आने से नेहरू...

सांकरी में ढह गया हाकम का गुरूर, अवैध आलीशान रिसोर्ट को ध्वस्त करने का काम शुरू

-मोरी तहसील के सांकरी में है uksssc भर्ती घोटाले के मास्टर माइंड हाकम सिंह का रिसोर्ट देहरादून। uksssc भर्ती घोटाले के मास्टरमाइंड हाकम सिंह के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए जल्द मिलेंगी तिरुपति बालाजी जैसी सुविधाएं

देहरादून। प्रसिद्ध केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए तिरुपति बालाजी ट्रस्ट सुविधाओं में मददगार बनेगा। सात अक्तूबर को आंध्र प्रदेश...

एवलांच में फंसे नौ प्रशिक्षकों के शव बरामद, 25 अभी भी लापता, रेस्क्यू जारी, एसडीआरएफ की पांच टीमें रवाना, सीएम ने रक्षा मंत्री से...

देहरादून। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में डोकरानी बामक ग्लेशियर में आज एवलांच हो गया। जानकारी के अनुसार, एवलांच की चपेट में आने से नेहरू...

सांकरी में ढह गया हाकम का गुरूर, अवैध आलीशान रिसोर्ट को ध्वस्त करने का काम शुरू

-मोरी तहसील के सांकरी में है uksssc भर्ती घोटाले के मास्टर माइंड हाकम सिंह का रिसोर्ट देहरादून। uksssc भर्ती घोटाले के मास्टरमाइंड हाकम सिंह के...

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस बार उत्‍तराखंड में सैनिकों के साथ मनाएंगे दशहरा, देश के अंतिम गावं माणा भी जाएंगे रक्षामंत्री

देहरादून। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह उत्तराखंड में चीन सीमा पर स्थित अग्रिम चौकी पर सेना व आईटीबीपी के जवानों के साथ विजयादशमी मनाएंगे। इस अवसर...

 परेड ग्राउंड में भव्य तरीके से मनाया जाएगा दशहरा, जानिए पूरी अपडेट

देहरादून। अबकी बार देहरादून के परेड ग्राउंड पर पांच अक्तूबर को दशहरे का आयोजन भव्य बनाने के लिए दशहरा कमेटी बन्नू बिरादरी ने पूरी ताकत...

CM धामी ने शारदीय नवरात्र की नवमी के पावन अवसर विधि विधान से किया कन्‍या पूजन

देहरादून।  नवमी के दिन मंगलवार को उत्‍तराखंड भर में मां दुर्गा के नौ स्‍वरूपों की पूजा अर्चना का दौर जारी रहा। इस क्रम में...

पाकिस्तान में बाढ़ के हालात में सुधार, भुखमरी और बीमारियों का बढ़ा खतरा

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में आयी भीषण बाढ़ का प्रकोप धीरे धीरे कम हो रहा है। सिंध के 22 में से 18 जिलों में बाढ़ के...

ना करें प्लास्टिक बोतल में पानी पीने की गलती, सेहत को होते हैं ये नुकसान

आजकल के समय में देखने को मिलता हैं कि लोग प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने के आदी हो गए हैं। अमीर हो या...

गॉडफादर का हिंदी ट्रेलर रिलीज, चिरंजीवी के साथ एक्शन अवतार में दिखे सलमान खान

सलमान खान का नाम जिस भी फिल्म के साथ जुड़ जाता है, दर्शकों की उत्सुकता उस फिल्म के प्रति बढ़ जाती है। वह साउथ...

पार्टी अध्यक्ष के चुनाव की कब ऐसी चर्चा हुई थी?

हरिशंकर व्यास ध्यान नहीं आ रहा है कि आखिरी बार कब किसी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव की ऐसी चर्चा हुई थी, जैसी अभी...