Thursday, September 29, 2022
Home ब्लॉग चीनी मुसलमानों की दुर्दशा

चीनी मुसलमानों की दुर्दशा

वेद प्रताप वैदिक
संयुक्तराष्ट्र संघ की मानव अधिकार परिषद ने चीन को कठघरे में खड़ा कर दिया है। उसकी ताजा रपट में उसने बताया है कि चीन के शिन च्यांग (सिंक्यांग) प्रांत के लगभग दस लाख उइगरों को यातना शिविरों में बंद करके रखा हुआ है। ये उइगर मुसलमान हैं। ये दिखने में भी चीनियों से अलग दिखते हैं। उनका सिंक्यांग प्रांत हमारे लद्दाख से लगा हुआ है। सैकड़ों सालों से पैदल रास्ते चीन जानेवाले और वहां से आनेवाले व्यापारी, विद्वान, यात्रीगण इसी रास्ते से आया जाया करते थे।

उइगरों का यह क्षेत्र सदियों से चीनी वर्चस्व के बाहर रहा है। कम्युनिस्ट शासन की स्थापना होने के पहले इस उइगर-क्षेत्र में आजादी का आंदोलन चलता रहा है लेकिन जब से चीन में कम्युनिस्ट शासन स्थापित हुआ है, उइगर मुसलमानों को बड़ी बेरहमी से दबाया गया है। कुछ उइगर नेताओं और व्यापारियों को अपना हथियार बनाकर चीनी सरकार उन पर निरंतर जुल्म करती रहती है।

संयुक्तराष्ट्र संघ की लंबी रपट में ठोस तथ्य और तर्क देकर बताया गया है कि चीन के ये मुसलमान गुलामी की जिंदगी जी रहे हैं। उनकी जनसंख्या न बढ़े, इसलिए उनकी जबरन सामूहिक नसबंदी कर दी जाती है। उनकी मस्जिदों पर ताले ठोक दिए जाते हैं। वहां मदरसे नहीं चलने दिए जाते हैं। इस्लामी देशों के प्रचारकों को वहां घुसने भी नहीं दिया जाता है। उनकी वेशभूषा और नाम भी बदलने की कोशिश बराबर जारी रहती है। उइगर बच्चों के स्कूलों में चीनी भाषा अनिवार्य रूप से पढ़ाई जाती है।

शिंनच्यांग प्रांत में कम्युनिस्ट पार्टी का शिंकजा इतना कड़ा है कि जो उइगर मुसलमान उसके पदाधिकारी हैं, वे चीनियों की नकल भर बने रहते हैं। सिंक्यांग प्रांत की राजधानी उरुमची और अन्य शहरों व गांवों में मुझे घूमने-फिरने और आम आदमियों से खुलकर बात करने का मौका मिला है। कई उइगरों से पेइचिंग और शांघाई में भी मेरा खुलकर संवाद हुआ है। वे अपने आप को चीनी कहने में ही संकोच करते हैं। सिंक्यांग में मैंने जैसी गरीबी देखी, वैसी दुनिया के बहुत कम देशों में देखी है।

वहां की कई महिलाओं ने शिकायत की कि चीनी लोग उनके साथ काफी बुरा बर्ताव करते हैं। राजधानी उरुमची में पाकिस्तानी छात्रों की भरमार रहती है। चीनी सरकार उन्हें लगभग मुफ्त में मेडिकल की शिक्षा देती है लेकिन उसे यह डर भी लगा रहता है कि इन इस्लामी पाकिस्तानियों के जरिए अफगानिस्तान और मध्य एशियाई मुस्लिम राष्ट्रों के आतंकवादी कहीं सिंक्यांग में अपना अड्डा न बना लें।

ये उइगर लोग भारत और पाकिस्तान को बहुत प्यार करते हैं लेकिन देखिए उनकी बदकि़स्मती कि इन दोनों देशों के नेता उइगरों के मुद्दे पर मौन धारण किए रहते हैं। अमेरिका और पश्चिमी राष्ट्र जब मुंह खोलते हैं, चीन उन पर निहित स्वार्थ और दुश्मनी का आरोप लगाता है। चीनी सरकार ने संयुक्तराष्ट्र की इस ताजा रपट को भी यही कहकर रद्द कर दिया है।

RELATED ARTICLES

पुरानी पेंशन का चारा

पुरानी पेंशन योजना की समाप्ति का फैसला नव-उदारवादी नीतियों के कारण हुआ, जिन्हें देश ने लगभग आम सहमति के साथ स्वीकार कर लिया था।...

मोहन भागवत की नई पहल

वेद प्रताप वैदिक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत और अखिल भारतीय इमाम संघ के प्रमुख इमाम उमर इलियासी दोनों ही हार्दिक बधाई...

विपक्षी राज्यों में राज्यपालों की भूमिका

अजीत द्विवेदी इससे पहले शायद ही कभी विपक्ष शासित राज्यों में सरकार और राज्यपाल का ऐसा टकराव देखने को मिला होगा, जैसा अभी देखने को...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बड़ेथ के पास वाहन हुआ दुर्घटनाग्रस्त, SDRF ने 2 घायलों को किया रेस्क्यू

यमकेश्वर।  देर रात्रि थाना लक्ष्मणझूला द्वारा SDRF को सूचित किया गया कि ऋषिकेश से यमकेश्वर जाते समय यमकेश्वर रोड पर बड़ेथ के पास एक...

यूक्रेन के 15 फीसदी हिस्से पर कब्जे की तैयारी, राष्ट्रपति पुतिन करेंगे ऐलान

मॉस्को। रूस ने यूक्रेन के जिन इलाकों में कब्जा कर रखा है वहां जनमत संग्रह करवाया है। चार दिन चला यह जनमत संग्रह पूरा...

दक्षिण अफ्रीका टी20 शृंखला से बाहर हुए शमी

मुंबई। भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी कोरोनावायरस के कारण ऑस्ट्रेलियाई शृंखला के बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाली टी20 शृंखला से भी बाहर...

रिलायंस रिटेल ने खोला देश का पहला सेंट्रो स्टोर

नयी दिल्ली  ।  रिलायंस रिटेल ने सेंट्रो नाम से एक नए प्रकार के फैशन और लाइफस्टाइल स्टोर की शुरुआत की। इस स्टोर को मध्य...

कैलोरी बर्न करने का सबसे आसान तरीका है रस्सी कूदना, जानिए इसके बड़े स्वास्थ्य लाभ

रस्सी एक अच्छा कार्डियो व्यायाम है। रस्सी कूदने से तनाव कम होता है और मानसिक स्वास्थ्य बना रहता है। रस्सी कूदने से शरीर लचीला...

जहीर इकबाल के साथ म्यूजिक वीडियो में नजर आएंगी सोनाक्षी सिन्हा

बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा और जहीर इकबाल के रिश्ते की बातें लंबे समय से चल रही हैं। सोशल मीडिया पर अकसर दोनों की नजदीकियां...

शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए साइकिल मार्च

- 2 अक्टूबर को देहरादून से रामपुर तिराहा पहुंचेगा ‘प्रवासी-निवासी मार्च‘ - 20 शहरों के साइकिलिस्ट लेंगे भाग, एकजुट-एकमुट का प्रयास देहरादून। प्रवासी उत्तराखंडियों को एकजुट-एकमुट...

रुद्रप्रयाग में केदारनाथ से आगे मंदाकिनी ग्लेशियर में फंसा एक व्यक्ति, SDRF ने किया रेस्क्यू

रुद्रप्रयाग।  केदारनाथ पुलिस चौकी द्वारा SDRF को सूचित किया गया कि केदारनाथ धाम से 06 किमी आगे एक व्यक्ति मंदाकिनी ग्लेशियर के पास फंसा...

धामी सरकार ने तबादलों के नियम बदलकर दी कर्मचारियों को बड़ी राहत, जानिए नये नियमों से कैसे होंगे तबादले 

देहरादून। उत्तराखंड की धामी सरकार ने तबादलों के नियम बदलकल कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है। राज्य में परिवहन, माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा, सिंचाई,...

अंकिता भंडारी हत्याकांड: अभद्र टिप्पणी करने को लेकर गुस्साएं लोगों ने हरिद्वार- देहरादून हाइवे पर लगाया जाम

देहरादून। अंकिता भंडारी हत्याकांड को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े विपिन कर्णवाल की ओर से इंटरनेट मीडिया पर की गई अभद्र टिप्पणी को लेकर...