Tuesday, September 27, 2022
Home उत्तराखंड बुखार के गंभीर रोगियों को डेंगू की तरह दिया जाय इलाज, निगेटिव...

बुखार के गंभीर रोगियों को डेंगू की तरह दिया जाय इलाज, निगेटिव रिपोर्ट के चलते लक्षणों को नजरअंदाज न करें डॉक्टर, डॉ एनएस बिष्ट की सलाह

डॉ एनएस बिष्ट का बड़ा बयान, बोले डेंगू से पीड़ित मरीजों की रिपोर्ट आ रही है निगेटिव

देहरादून। राज्य के सरकारी अस्पताल बुखार के रोगियों से पटे पड़े हैं। जैसा कि पहले से ही अंदेशा ही था कि सितंबर के महिने में डेंगू अपने चरम पर पहुंच चुका है। मगर इस बार डॉक्टर काफी दुविधा में दिख रहे हैं, कारण है डेंगू के लक्षणों वाले मरीजों में डेंगू की रिपोर्ट का निगेटिव आना या एक साथ ऐंटीजन और दोनों ऐंटीबॉडी का भी पॉजिटिव आ जाना या फिर टाइफाइड की जाँच का पॉजिटिव होना।

जिला अस्पताल कोरोनेशन में सीनियर फिजीशियन डॉ एनएस बिष्ट का कहना है कि अस्पताल आने वाला हर दूसरा व्यक्ति बुखार से पीडित है। 10 में से 9 मरीज डेंगू के लक्षणों वाले बुखार से पीड़ित हैं लेकिन चौंकाने वाले बात ये है कि जांच कराने पर इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव के बजाये निगेटिव आ रही है। यानि मरीाजों में डेंगू पॉजिटिव दर काफी कम है जबकि डेंगू के लक्षण बहुत ज्यादा। डॉ एनएस बिष्ट का कहना हैकि अब क्योंकि कोविड-19 ढलान पर है और बाकी वायरल के बुखार ज्यादा गंभीर नहीं होते ऐसे में बुखार के गंभीर रोगियों को नेगेटिव रिपोर्ट पर भी डेंगू की ही तरह इलाज देना चाहिए ताकि नेगेटिव रिपोर्ट की वजह से किसी मरीज़ के इलाज में लापरवाही न हो।

जानिए क्यों आ रही है डेंगू मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव
डॉ एनएस बिष्ट के मुताबिक डेंगू की जाँच सही न आ पाने का कारण डेंगू से दोबारा संक्रमण या फिर टाइप 2 और 4 से संक्रमण हो सकता है। चूंकि 2019 में डेंगू का संक्रमण दुनियाँ में सबसे ज्यादा मामले लेकर आया तो तीन साल बाद यह दोबारा संक्रमण वाले मामलों की तादाद ज्यादा हो सकती है। डॉ बिष्ट के मुताबिक समयपूर्व और समय के बाद जाँच कराने से भी निगेटिव रिपोर्ट आ सकती है। जैसे कि एस-1 टेस्ट शुरुआत में नहीं कराने या फिर बुखार छूटने के बाद दोबारा बुखार आने पर कराने से नेगेटिव ही आएगा क्योंकि एंटीज़न टेस्ट 7 दिन के बाद नेगेटिव हो जाता है। एंटीबॉडी टेस्ट 7 दिन से पहले नेगेटिव ही रहता है। बुखार की मियाद का सही से पता न चल पाना इसका एक कारण है

बुखार में ये लक्षण दिखें तो सावधान रहें- डॉ बिष्ट
डॉ बिष्ट के मुताबिक डेंगू मरीजों के पूरे शरीर की मांसपेशियों जोड़ों में दर्द, सिरदर्द, बेचौनी, निम्न रक्तचाप, उल्टी, मचली आना, शरीर निढाल हो जाना, त्वचा में हल्की लालिमा या राष इस फीवर आउटब्रेक के मुख्य लक्षण हैं। नेगेटिव रिपोर्ट के बाद भी स्वेत रक्त कणो की संख्या या टीएलसी के आधार पर बुखार के गंभीर रोगियों का इलाज डेंगू की तरह ही होना चाहिये। डॉ बिष्ट का कहना है कि टीएलसी डेंगू मरीजों में काफी कम हो सकता है, 2000 से भी कम, साथ ही पित्त की थैली के आसपास पानी जमा होने लगता है। लीवर इंजाएम भी समान्य तौर पर बढ़े हुए मिलते हैं।

इलाज में पेरासिटामोल के अलावा कोई भी दावा नुकसान पहुँचा सकती है मरीज़ के शरीर में पानी की कमी ना होने दें। इसके साथ ही रक्तचाप कम ना होने दें। बेचौनी थकावट खड़े ना हो पाना निम्न रक्तचाप के मुख्य लक्षण हैं।

RELATED ARTICLES

चमोली: नारायण बगड़ में देर रात्रि हुआ हादसा, SDRF ने किया रेस्क्यू

चमोली। देर रात्रि SDRF को पुलिस चौकी गोचर द्वारा सूचना मिली कि नारायणबगड़ के पास एक व्यक्ति खाई में गिर गया है, जिसके रेस्क्यू...

हाथों को मॉइश्चराइज और मुलायम बनाए रखने में मदद कर सकते हैं ये पांच स्क्रब

चेहरे को निखारने के लिए लोग न जाने क्या कुछ नहीं करते हैं, लेकिन वे हाथ जैसे शरीर के अन्य अंगों पर ध्यान देना...

धामी सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा के लिए बनाने जा रही है...

देहरादून। अंकिता हत्याकांड से सबक लेते हुए सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चमोली: नारायण बगड़ में देर रात्रि हुआ हादसा, SDRF ने किया रेस्क्यू

चमोली। देर रात्रि SDRF को पुलिस चौकी गोचर द्वारा सूचना मिली कि नारायणबगड़ के पास एक व्यक्ति खाई में गिर गया है, जिसके रेस्क्यू...

कम हो सकते हैं एलपीजी सिलेंडर के दाम, सरकार ने दिए संकेत

नई दिल्ली। कुछ ही दिनों में नया महीना शरू हो जाएगा। नियमों के अनुसार हर महीने की पहली तारीख को गैस सिलेंडर के नए...

हाथों को मॉइश्चराइज और मुलायम बनाए रखने में मदद कर सकते हैं ये पांच स्क्रब

चेहरे को निखारने के लिए लोग न जाने क्या कुछ नहीं करते हैं, लेकिन वे हाथ जैसे शरीर के अन्य अंगों पर ध्यान देना...

एक अक्टूबर से शुरू होगा सलमान का बिग बॉस 16, मेकर्स ने की घोषणा

काफी समय से कयास लगाए जा रहे थे बिग बॉस 16 का प्रसारण अक्टूबर में शुरू होगा। इस बार फिर शो को लेकर दर्शकों...

मोहन भागवत की नई पहल

वेद प्रताप वैदिक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत और अखिल भारतीय इमाम संघ के प्रमुख इमाम उमर इलियासी दोनों ही हार्दिक बधाई...

धामी सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा के लिए बनाने जा रही है...

देहरादून। अंकिता हत्याकांड से सबक लेते हुए सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा...

सीएम ने सचिवालय में लोक निर्माण विभाग की समीक्षा की

तय समय पर काम पूरे हों: सीएम पुष्कर सिंह धामी मानसखण्ड काॅरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश सङको के पैचवर्क का काम जल्द पूरा...

वनन्‍तरा रिसॉर्ट से लापता प्रियंका का उत्तराखंड पुलिस ने लगाया पता, जानिए क्या है पूरे मामला का सच

देहरादून। वनन्तरा रिसॉर्ट अंकिता हत्याकांड के बाद से लगातार सुर्खियों में है। जब अंकिता हत्‍याकांड का मामला सामने आया तो स्‍थानीय लोगों ने रिसॉर्ट...

नवरात्र के पहले दिन धामी सरकार ने दिया 80 हजार बालिकाओं को 323 करोड़ 22 लाख रूपये का तोहफा

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्य सेवक सदन, मुख्यमंत्री आवास, देहरादून में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम...

धामी सरकार भर्तियों के लिए बनाने जा रही है सख्त नियमावली, सीएम ने कहा- युवाओं के साथ नहीं होने देंगे धोखा

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की भर्तियों के पेपर लीक होने और विधानसभा में बैकडोर एंट्री का मामला खुलने के बाद अब सरकार...