Wednesday, February 1, 2023
Home ब्लॉग मोदी-शाह डरते नहीं

मोदी-शाह डरते नहीं

हरिशंकर व्यास
सत्य है नरेंद्र मोदी और अमित शाह संघ को हैंडल करना जानते है। चतुर गुजराती व्यापारी की तासीर में मोहन भागवत, नितिन गडकरी जैसे मराठा नेताओं-स्वंयसेवकों को बेखूबी हैंडल कर सकते है। इसलिए इन्हे इस बात की रत्ती भर चिंता नहीं है कि संघ कही नाराज नहीं हो जाए। इसलिए अगले चार-छह महिनों में मोदी-शाह बनाम संघ परिवार में डाल-डाल, पांत-पांत होना है। मैं नहीं मानता कि भाजपा के संगठन को पुरानी संगठनात्मक पटरी पर संघ ला सकेगा। पार्टी उसी दशा में है जैसे एक वक्त वाजपेयी और आडवाणी के वक्त में थी। वाजपेयी ने अपनी सरकार और गांधीवादी-समाजवादी फाउंडेशन के वक्त संघ परिवार और उसके प्रचारकों को हाशिए में डाला था। जैसा अब है वैसे वाजपेयी सरकार के वक्त भी था।

वाजपेयी-बृजेश मिश्रा-जसवंतसिंह-प्रमोद महाजन की सत्ता के आगे संघ प्रमुख सुर्दशन, दत्तोपंत ठेगंडी और उनके तमाम संगठन प्रमुख नाक रगडते रहते थे। वैसे ही आडवाणी के एकाधिकार के वक्त मोहन भागवत आदि के लिए वेंकैया-सुषमा-जेतली-अनंत कुमार की चौकड़ी से भाजपा को मुक्त कराना बड़ा मुश्किल था। तब नरेंद्र मोदी ने  चुपचाप नागपुर में खेला कर आडवाणी की पकड खत्म कराने के दाव चले थे। गुजरात से नरेंद्र मोदी ने पहले संघ के मदनदास देवी, सुरेश सोनी, भैय्याजी जोशी के मार्फत केंद्रीय संगठन की आडवाणी से मुक्ति का माहौल बनाया। परिणाम था जो वे नितिन गडकरी तब अध्यक्ष बने जिनका लोगों ने नाम भी नहीं सुना था। गडकरी देश में क्लिक होते लगे तो मोदी-जेतली ने दिल्ली के मीडिया और चिदबंरम के वित्त मंत्रालय का उपयोग करके गडकरी को ऐसा बदनाम बनाया कि उन्हे अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा। राजनाथसिंह का वापिस मौका बना।

और उसके बाद भाजपा का संगठन नरेंद्र मोदी के जादू में अंधा होता गया। अमित शाह अध्यक्ष बने तो उन्होने वही किया जो साहेब चाहते थे। अमित शाह के बाद संघ ने अपनी चलानी चाही। मगर मोदी-शाह ने होशियारी से भूपेंद्र यादव बनाम जेपी नड्डा का चुपचाप ऐसे विकल्प बनाया जिसमें संघ जेपी नड्डा के लिए रजामंद हुआ। कुछ जानकारों के अनुसार नवंबर में संघ टोली इस दलील पर अपनी पसंद का अध्यक्ष बनाएगी कि आप लोगों को जैसे सरकार चलानी हो चलाएं लेकिन संगठन को डिरेल नहीं होने देंगे। उसे वापिस पुराने चाल,चेहरे ,चरित्र पर लौटाना है। सवाल है क्या मोदी- शाह तैयार होगे या ऐसा होने देंगे।

मुश्किल है। दोनों सन् 2024 और 2029 की प्रधानमंत्री कुर्सी के मकसद में भाजपा को पूरी तरह अपने कंट्रोल और अपने निजी वफादार लोगों की टीम मे कनवर्ट करते आ रहे है। इसलिए अगले तीन महिनों में कैबिनेट, प्रदेशों में मुख्यमत्री, प्रदेश अध्यक्ष के चेहरों में ऐसे अपने भक्त और निराकार चेहरे बैठाएगें जैसा कि गुजरात में केबिनेट और संगठन बना है। संघ का इरादा जानते-समझते हुए मोदी-शाह रत्ती भर सरकार की रीति-नीति और संगठन की लीडरशीप में संघ का प्रभाव औरसंचालन नहीं बनने देंगे।

RELATED ARTICLES

जोशीमठ में त्रासदी – कौन जिम्मेदार

अजय दीक्षित उत्तराखण्ड के जोशीमठ में हजारों मकानों में दरारों की प्राकृतिक आपदा के लिए प्रकृति कम और शासन तंत्र ज्यादा जिम्मेदार है। प्रकृति से...

शराबबंदी : योजनाओं को सही दिशा देनी होगी

डॉ. भीम सिंह भवेश हफ्ते भर पहले बिहार में एक माह के अंदर दूसरी बार जहरीली शराब से हुई मौतों ने आमजन के साथ ही...

तो कैसे होगा मुक्त व्यापार

भारत की अपेक्षा है कि समझौता होने पर भारतीय नागरिकों के लिए ब्रिटेन जाना आसान हो जाएगा। लेकिन ब्रिटेन ने साफ कर दिया है...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

धारा 370 हटने से जो वातावरण बना है, उसी के नतीजे से राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा कश्मीर में शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न...

ऋषिकेश। उत्‍तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने से पूरे देश में एक सुखद संदेश गया और...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या धन...

क्रेडिट कार्ड से रेंट भरने पर अब लगेगा एक्सट्रा चार्ज, इस बैंक ने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका

नई दिल्ली। देश में बहुत सारे लोग क्रेडिट कार्ड से मकान का रेंट भी भरते हैं। पेटीएम, क्रेड, नो ब्रोकर, पेजैप, रेड जिराफ जैसे कई...

हाईकोर्ट ने समलैंगिक विवाहों को मान्यता देने की मांग वाली याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट में किया स्थानांतरित

नई दिल्ली।  दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को विशेष विवाह अधिनियम, हिंदू विवाह अधिनियम और विदेशी विवाह के तहत अपने विवाह को मान्यता देने की...

जानें, सेहत के लिए कितनी फायदेमंद हैं फूलगोभी की पत्तियां और कैसे करें सेवन

सर्दी के मौसम में खाने के लिए मौसमी फल और सब्जियां मिलती हैं। फूल गोभी भी इसी मौसम में मिलती है। इसे सर्दियों की...

रुड़की के कलियर क्षेत्र में हैवान पिता ने किया रिश्‍तों को तार- तार, 13 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म कर हुआ फरार

रुड़की। कलियर क्षेत्र में एक हैवान पिता ने रिश्‍तों को तार-तार कर दिया। उसने अपनी 13 साल की बेटी के साथ दुष्‍कर्म किया और फरार...

उत्तरकाशी जिले के राना गांव में तीन आवासीय मकानों में लगी आग, सारा सामान जलकर हुआ खाक

देहरादून। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के बड़कोट में मध्य रात्रि को तहसील के राना गांव में तीन आवासीय मकानों में आग लग गई। सूचना पर...

दो दिवसीय दौरे पर आज गोरखपुर आएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ, जनता दरबार में फरियादियों की समस्याएं भी सुनेंगे

उत्तर प्रदेश। दो दिवसीय दौरे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को गोरखपुर आएंगे। उनके यहां दोपहर बाद पहुंचने की उम्मीद है। मंदिर में रात्रि विश्राम...

उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा- एक फरवरी से 28 फरवरी तक होंगी हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की प्रयोगात्मक परीक्षाएं

देहरादून। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद की ओर से संचालित हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की प्रयोगात्मक परीक्षाएं एक फरवरी से 28 फरवरी तक होंगी। बोर्ड सचिव डॉ. नीता...

उर्वशी रौतेला ने फिल्म में तीन मिनट के गाने के लिए 2 करोड़ रुपये

सुपरस्टार चिरंजीवी की फिल्म वाल्टर वीरैया 13 जनवरी, 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में उर्वशी रौतेला ने आइटम सॉन्ग बॉस...