Tuesday, September 27, 2022
Home उत्तराखंड विधानसभा में बैकडोर से हुईं भर्तियों को लेकर माहौल गर्म, स्पीकर ऋतु...

विधानसभा में बैकडोर से हुईं भर्तियों को लेकर माहौल गर्म, स्पीकर ऋतु भूषण खंडूड़ी के फैसले पर सबकी निगाहें

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा में बैकडोर से हुई भर्तियों की जांच को लेकर माहौल गर्म है। सोशल मीडिया में लोग इसको लेकर जमकर मुखर हैं। आये दिन नए-नए मामले सामने आ रहे हैं। सत्ता-विपक्ष में जुबानी जंग देखने को मिल रही हैं। वहीं सत्ता पक्ष के नेता भी अपनी ही सरकार पर सवाल खड़े करते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं नियुक्तियों पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, त्रिवेंद्र सिंह रावत और पूर्व स्पीकर व वित्त मंत्री की अलग-अलग प्रतिक्रियाओं ने सियासत को और गरमा दिया है। अब सबकी निगाहें विधानसभा अध्यक्ष ऋतु भूषण खंडूड़ी पर लगी हैं। वह पिछले एक हफ्ते से विदेश दौरे पर हैं और कॉमनवेल्थ पार्लियामेंट्री एसोसिएशन के सम्मेलन में भाग लेकर स्वदेश लौट चुकी हैं।

चूंकि विधानसभा की सभी भर्तियों की जांच कराए जाने के संबंध में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी स्पीकर से अनुरोध करने की बात कह चुके हैं। इसलिए निगाहें स्पीकर खंडूड़ी के फैसले पर हैं। माना जा रहा है कि स्पीकर तात्कालिक परिस्थितियों में सबसे पहले पूरे मामले से जुड़े तथ्यों का पता लगाएंगी। इस बात की संभावना है कि मामले में जांच का निर्णय लेने से पहले वह मुख्यमंत्री से शिष्टाचार भेंट कर सकती हैं। इसके बाद वह किसी निर्णय पर पहुंचेंगी।

प्रेमचंद बोले भर्तियों की जांच होती है तो कोई दिक्कत नहीं
पूर्व स्पीकर व वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि यदि उनके कार्यकाल की भर्तियों की जांच होती है तो इसमें उन्हें कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने दोहराया कि आवश्यकता होने पर ही नियुक्तियां की जाती हैं। सूत्रों के मुताबिक, स्पीकर के लौटने के बाद इसी हफ्ते विधानसभा में भर्तियों की जांच पर फैसला हो सकता है।

कुंजवाल बोले नियुक्तियों पर सवाल सुप्रीम कोर्ट का अपमान
पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने कहा कि मेरे कार्यकाल के दौरान जो भी नियुक्तियां हुई हैं, उनकी जांच सुप्रीम कोर्ट ने की थी। सुप्रीम कोर्ट ने उन सभी नियुक्तियों को वैध बताया था, जो भी आरोप लगे थे वे उसी समय निराधार साबित हो गए थे। इन नियुक्तियों पर सवाल उठाना सुप्रीम कोर्ट का अपमान है।

त्रिवेंद्र बोले विस कानून बनाती है, वहां न्याय होना चाहिए
विधानसभा में भर्ती पर पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी सवाल उठाने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि विधानसभा कानून बनाती है, वहां न्याय होना चाहिए। उसके लिए लोक हित व राज्य हित सर्वाेपरि होना चाहिए। भर्तियों के लिए नियम-कायदे बनें हैं उनका पालन हो। पारदर्शिता कहने के लिए नहीं दिखनी भी चाहिए।

हरीश रावत बोले एक रिश्तेदार बता दो जिसे मेरे प्रभाव से नौकरी मिली
मामले में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी कूद पड़े हैं। उन्होंने चुनौती दी कि उनके अब तक के सार्वजनिक जीवन में एक ऐसा व्यक्ति बता दें जो उनके परिवार, नातेदार या रिश्तेदारी से हो और उसे उनके प्रभाव से नौकरी दी गई हो। वर्ष 2016 में रावत के मुख्यमंत्रित्वकाल में ही तत्कालीन स्पीकर कुंजवाल ने विस में 158 भर्तियां कीं, जिन पर सवाल उठ रहे हैं। उन्हें हरीश रावत के सबसे करीबी राजनेताओं में माना जाता है। रावत ने नियमों के विरुद्ध हुई नियुक्तियों को विस में प्रस्ताव पारित कर रद्द करने की मांग उठाई।

RELATED ARTICLES

धामी सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा के लिए बनाने जा रही है...

देहरादून। अंकिता हत्याकांड से सबक लेते हुए सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा...

सीएम ने सचिवालय में लोक निर्माण विभाग की समीक्षा की

तय समय पर काम पूरे हों: सीएम पुष्कर सिंह धामी मानसखण्ड काॅरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश सङको के पैचवर्क का काम जल्द पूरा...

वनन्‍तरा रिसॉर्ट से लापता प्रियंका का उत्तराखंड पुलिस ने लगाया पता, जानिए क्या है पूरे मामला का सच

देहरादून। वनन्तरा रिसॉर्ट अंकिता हत्याकांड के बाद से लगातार सुर्खियों में है। जब अंकिता हत्‍याकांड का मामला सामने आया तो स्‍थानीय लोगों ने रिसॉर्ट...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

एक अक्टूबर से शुरू होगा सलमान का बिग बॉस 16, मेकर्स ने की घोषणा

काफी समय से कयास लगाए जा रहे थे बिग बॉस 16 का प्रसारण अक्टूबर में शुरू होगा। इस बार फिर शो को लेकर दर्शकों...

मोहन भागवत की नई पहल

वेद प्रताप वैदिक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत और अखिल भारतीय इमाम संघ के प्रमुख इमाम उमर इलियासी दोनों ही हार्दिक बधाई...

धामी सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा के लिए बनाने जा रही है...

देहरादून। अंकिता हत्याकांड से सबक लेते हुए सरकार अब उत्तराखंड में होम स्टे और रिसार्ट में कार्य करने वाली महिलाओं व बेटियों की सुरक्षा...

सीएम ने सचिवालय में लोक निर्माण विभाग की समीक्षा की

तय समय पर काम पूरे हों: सीएम पुष्कर सिंह धामी मानसखण्ड काॅरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश सङको के पैचवर्क का काम जल्द पूरा...

वनन्‍तरा रिसॉर्ट से लापता प्रियंका का उत्तराखंड पुलिस ने लगाया पता, जानिए क्या है पूरे मामला का सच

देहरादून। वनन्तरा रिसॉर्ट अंकिता हत्याकांड के बाद से लगातार सुर्खियों में है। जब अंकिता हत्‍याकांड का मामला सामने आया तो स्‍थानीय लोगों ने रिसॉर्ट...

नवरात्र के पहले दिन धामी सरकार ने दिया 80 हजार बालिकाओं को 323 करोड़ 22 लाख रूपये का तोहफा

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्य सेवक सदन, मुख्यमंत्री आवास, देहरादून में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम...

धामी सरकार भर्तियों के लिए बनाने जा रही है सख्त नियमावली, सीएम ने कहा- युवाओं के साथ नहीं होने देंगे धोखा

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की भर्तियों के पेपर लीक होने और विधानसभा में बैकडोर एंट्री का मामला खुलने के बाद अब सरकार...

सहसपुर में नदी पर बने टापू पर फंसे कुछ लोग, SDRF ने बचाई जान

देहरादून। सहसपुर में नदी पर बने टापू पर कुछ लोग फंस गए, जिसकी सूचना आपदा कंट्रोल रूम देहरादून द्वारा SDRF को दी गई, सूचना देते हुए...

आज से शुरु हुए शारदीय नवरात्र

देहरादून। शारदीय नवरात्र आज से शुरू हो गए हैं। 26 सितंबर को सुबह छह बजकर 20 मिनट से 10 बजे तक का समय कलश स्थापना...

अंकिता हत्याकांड : हर एंगल से होगी जांच, फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी सुनवाई : सीएम

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अंकिता हत्याकांड में सभी आरोपियों पर सख्त से सख्त कारवाई होगी। उन्होंने प्रदेश की जनता से...