Friday, August 19, 2022
Home अंतर्राष्ट्रीय श्रीलंका और पाकिस्तान के लिए मतलब का साथी साबित हुआ चीन

श्रीलंका और पाकिस्तान के लिए मतलब का साथी साबित हुआ चीन

श्रीलंका और पाकिस्तान की आर्थिक बदहाली की कई वजहें हो सकती हैं लेकिन इसमें पाकिस्तान का बड़ा हाथ होने से भी इनकार नहीं किया जा सकता। कई सालों से जानकार इस आने वाले आर्थिक संकट का अंदेशा जता रहे थे। चीन जिस कर्ज जाल में फंसाने की रणनीति पर काम कर रहा था, उसको लेकर कई देशों को चेतावनी दी जा चुकी है। श्रीलंका और पाकिस्तान जैसे देश में चीन बेल्ट ऐंड रोड प्रोजेक्ट के नाम पर बड़ा निवेश और कर्ज देकर चीन ने इन देशों को आर्थिक बदहाली में धकेल दिया। अब हालत यह हो गई है कि श्रीलंका दिवालिया निकल गया है और पाकिस्तान आईएमएफ के आगे झोली फैलाए राहत का इंतजार कर रहा है।

श्रीलंका और पाकिस्तान की बदहाली में एक बड़ा रोल कोरोना काल का भी रहा है। हालांकि पश्चिमी देश और अमेरिका चीन के बीआरआई प्रोजेक्ट को भी इसका दोष देते रहे हैं। चीन ऐसे आरोपों से इनकार करता रहा है। चीन ने न केवल श्रीलंका और पाकिस्तान को कर्ज के जाल में फंसाया बल्कि कई अधूरे प्रोजेक्ट भी छोड़ दिए। पाकिस्तान को  फंसाने के लिए मौजूदा पीएम शहबाज शरीफ के भाई नवाज शरीफ के कार्यकाल में ही बड़ा समझौता हुा था। चीन पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर अब भी अधूरा है। चीन ने श्रीलंका के सबसे व्यस्त पोर्ट को डिवेलपमेंट करने के लिए निवेश किया। योजना यह थी कि यहां से औद्योगिक गतिविधियां तेज होंगी लेकन जब इसका ऑपरेशन शुरू हुआ तो नुकसान ही नुकसान दिखायी दिया। इसके अलावा चीन ने कर्ज देकर 15.5 मिलियन डॉलर की लागत से एक पोर्ट बनाया गया जो कि बनने के बाद से ही किसी काम में नहीं आ रहा है। वहीं राजपक्षे एयरपोर्ट बनाने में चीन से 200 मिलियन डॉलर से ज्यादा का कर्ज लिया गया। इस पैसे का इस्तेमाल ऐसे किया गया को वह समय आ गया जब एयरपोर्ट के बिजली का बिल भरना भी मुश्किल हो गया।

पाकिस्तान में सीपीईसी प्रोजेक्ट अपने शेड्यूल से काफी पीछे चल रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक अभी तक ग्वादर के 14 प्रोजेक्ट ही  पूरे हो पाए हैं। वहीं अभी दर्जनों प्रोजेक्ट अधूरे हैं जिनमें पानी की सप्लाई और बिजली बनाने के भी प्रोजेक्ट हैं। पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय के दस्तावेजों के मुताबिक जून 2013 में बाहरी कर्जा 44.35 अरब डॉलर था। इसमें से 9.3 फीसदी चीन से लिया गया था। अप्रैल 2021 में यह कर्ज बढ़कर 90.12 अरब डॉलर हो गया जिसमें से 27.4 फीसदी चीन से लिया गया।

इसका मतलब यह हुआ कि पाकिस्तान जितना पैसा तीन साल में आईएमएफ से उधार लेगा उसका दोगुना उसे चीन को लौटाना पड़ेगा। वहीं श्रीलंका की बात करें तो उसने चीन से 6.5 अरब डॉलर का कर्ज लिया जो कि कुल कर्ज का 10 फीसदी है। अब आईएमएफ ने भी श्रीलंका से कह दिया है कि वह लोन रीस्ट्रक्चरिंग के लिए चीन से बात करे लेकिन चीन से कर्ज माफ करवाना बड़ा ही मुश्किल है। ऐसे में श्रीलंका बड़े जाल में फंस गया है।

जो देश ऊंची ब्याज दरों पर कर्ज देने के लिए श्रीलंका और पाकिस्तान के पीछे पड़ा रहता था आज जब मुसीबत आई तो उसकी तरफ से मदद का हाथ नहीं बढ़ाया गया। चीन ने श्रीलंका और पाकिस्तान के संकट पर चुप्पी साध रखी है। इस साल चीन ने श्रीलंका में कोई भी नया प्रोजेक्ट नहीं शुरू किया है।

RELATED ARTICLES

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दी भारत को बधाई

अमेरिका। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारत को बधाई दी।  उन्होंने कहा कि भारतीय-अमेरिकी समुदाय ने अमेरिका को...

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के घर से एफबीआई के हाथ लगे परमाणु हथियारों से जुड़े दस्तावेज

अमेरिका।  फ्लोरिडा राज्य में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के घर से फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टीगेशन (एफबीआई) ने कुछ 'टॉप सीक्रेट' सरकारी दस्तावेज बरामद किए...

आत्मघाती हमले में तालिबान का टॉप कमांडर रहीमुल्ला हक्कानी मारा गया, आईएसआईएस के खिलाफ काफी मुखर था रहीमुल्ला

काबुल। काबुल के एक मदरसे में हुए आत्मघाती हमले में तालिबान का टॉप कमांडर रहीमुल्ला हक्कानी मारा गया है। रहीमुल्ला तालिबान के आतंकी विचारधारा का...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

CM धामी ने ’रमणी जौनसार एवं ’जौनसार बावर के जननायक पं. शिवराम’ पुस्तक का किया विमोचन

देहरादून।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को आई.आर.डी.टी सभागार, सर्वे चौक, देहरादून में जौनसार बाबर के प्रथम कवि पं. शिवराम जी द्वारा रचित...

देश की छवि बिगाडऩे वालों पर केंद्र सख्त, 8 यूट्यूब चैनलों पर लगाया प्रतिबंध

नई दिल्ली। केंद्र सरकार देश के खिलाफ दुष्प्रचार फैलाने वाले यूट्यूब चैनलों के खिलाफ बड़े एक्शन के मूड में है। केंद्र ने आज राष्ट्रीय...

दिल्ली हाईकोर्ट ने सीओए को सौंपी भारतीय ओलंपिक संघ की बागडोर, इन तीन खिलाडियों को मिली बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने भारतीय ओलंपिक संघ के मामलों को संभालने के लिए प्रशासकों की तीन सदस्यीय समिति के गठन का निर्देश...

UKSSSC पेपर लीक मामले में एसटीएफ के हाथ लगी एक और बड़ी सफलता, जूनियर इंजीनियर ललित राज शर्मा की हुई गिरफ्तारी

देहरादून। पेपर लीक मामले में एसटीएफ के हाथ लगी एक और सफलता। एसटीएफ ने लंबी पूछताछ के बाद धामपुर निवासी जूनियर इंजीनियर ललित...

शिवराज सिंह चौहान को बीजेपी संसदीय बोर्ड से बाहर करना क्या मध्य प्रदेश के लिए है साफ संकेत?

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भाजपा की फैसले लेने वाली शीर्ष संस्था भाजपा संसदीय बोर्ड से बाहर कर दिया गया...

पहली बार भारतीय सिनेमाघरों में हिंदी में रिलीज होगी नेपाली फिल्म प्रेम गीत 3

बीते कुछ सालों में दक्षिण भारतीय फिल्मों को हिंदी में रिलीज करने का ट्रेंड बढ़ा है। हिंदी के दर्शक भी इन फिल्मों को हाथोंहाथ...

राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने पुलिस लाइन में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव में किया प्रतिभाग

देहरादून। गुरुवार को पुलिस लाइन, देहरादून में आयोजित श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव कार्यक्रम में राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से.नि) ने बतौर मुख्य अतिथि एवं...

मुख्यमंत्री ने किया बोधिसत्व विचार श्रृंखला ‘बिन पानी सब सून’ संगोष्ठी को सम्बोधित

जल संरक्षण एवं संवर्धन के लिये समेकित प्रयासों की बतायी जरूरत। देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय स्थित सभागार में...

जो नहीं फंसे हैं उनको फंसाना है

हरिशंकर व्यास पिछले दिनों जब नीतीश कुमार ने भाजपा का साथ छोड़ा तो सोशल मीडिया में यह पोस्ट दिखाई दी कि अब केंद्र सरकार और...

CM धामी ने बहुउद्देशीय क्रीडा भवन में आयोजित बैडमिंटन प्रतियोगिता’ का किया शुभारंभ

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को बहुउद्देशीय क्रीडा भवन, परेड ग्राउंड, देहरादून में उत्तरांचल राज्य बैडमिंटन एसोसिएशन द्वारा आयोजित ’उत्तराखण्ड राज्य सीनियर बैडमिंटन...