Thursday, September 29, 2022
Home ब्लॉग भाजपा की दक्षिण भारत और उत्तर पूर्व विजय

भाजपा की दक्षिण भारत और उत्तर पूर्व विजय

अजय दीक्षित
पिछले आठ साल में भाजपा ने उत्तर-पूर्व के राज्यों की विभिन्न पार्टियों से 93 एमएलए अपने खाते में संजो लिए हैं । ज्ञात हो कि मिजोरम विधानसभा में मात्र 40 सदस्य होते हैं । अभी हाल में मणिपुर के 6 जे.डी.यू. विधायकों में से पांच को भाजपा ने कमल की माला पहना दी । इनका भव्य स्वागत दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में स्वयं भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने किया । सन् 2014 में नागालैण्ड विधानसभा में एन.सी.पी. के तीन विधायक भाजपा में शामिल हो गये थे । अरुणाचल प्रदेश में सन् 2003 और 2016 में समस्त कांग्रेसी विधायक एक मुश्त भाजपा में शामिल हो गये और बिना किसी इलेक्शन के वहां भाजपा की सरकार बन गई ।

यूं यह कमल खिलाने का काम पूरे देश में चल रहा है । उत्तराखण्ड में अनेक कांग्रेसी भाजपा में शामिल हुये थे । मध्यप्रदेश में तो कांग्रेस के 23 विधायक एक मुश्त भाजपा में शामिल हो गये और शिवराज सिंह चौहान चौथी बार मुख्यमंत्री बने ग्रे । गोवा में भी यह खेल खेला जा चुका है । राजस्थान में जरूर सफल नहीं हो पाये पर अब दिल्ली और उत्तराखण्ड पर नजर है । जल्दी ही झारखण्ड में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा की सरकार गिर जायेगी, ऐसा आभास राजनैतिक विश्लेषक बतलाते हैं ।

भाजपा तो कांग्रेस मुक्त भारत की बात करती है । और यह और कोई नहीं स्वयं प्रधानमंत्री बोलते हैं जबकि सच्चे स्वराज में विपक्षी दल की अहम भूमिका होती है । हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री जी ही हैं जो पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के लिए कहते हैं कि कोई बरसाती पहनकर नहाना डॉक्टर साहब से सीखे ।  दिल्ली के मुख्यमंत्री उनके लिए एके-47 हैं ।
उत्तर पूर्व के 93 विधायक जो भाजपा में सन् 2014 से अब तक शामिल हुए हैं, उनमें 32 कांग्रेसी हैं । यह संख्या कुल दलबदलुओं का एक तिहाई है ।

2019 में अरुणाचल प्रदेश में जे.डी.यू. के छ: विधायक भाजपा में शामिल हुए थे । त्रिपुरा में तृणमूल कांग्रेस के विधायकों को तोडऩे का सिलसिला जारी है । इनकी संख्या अब नौ हो गई है जो अब भाजपा में हैं परन्तु पहले ममता भक्त थे । यद्यपि अरुणाचल प्रदेश में 2003 में 36 कांग्रेसी विधायक भाजपा में शामिल हुए थे परन्तु जिगोंग अपांग की सरकार मात्र 42 दिन ही चल पाई । असम में कांग्रेसी हेमंत विश्वा सरमा भाजपा में शामिल हुए थे । सरमा ने ही अरुणाचल प्रदेश में दूसरी बार विधायकों की तोडफ़ोड़ करके भाजपा की सरकार बनवाई थी । कांग्रेस के 32 विधायक पहले पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल में शामिल हुए और बाद में 48 घंटे में ही भाजपा में शामिल हो गये । जब से नरेन्द्र मोदी का ध्यान उत्तर पूर्व पर गया है गया राम का खेल शुरू हो गया है । मणिपुर में पूर्व कांग्रेसी एन. बीरने सिंह ने वहां भाजपा की सरकार बनवाने में बड़ी भूमिका निभाई है ।

अब विधायकों का पाला बदलना उस जनता के साथ धोखा है जिन्होंने उन्हें चुनकर भेजा है । यह आत्मा की पुकार नहीं है, धन की थैली की पुकार है । ऐसा कुछ राजनीतिक विश्लेषक कहते हैं । अभी हाल में दिल्ली में आम आदमी पार्टी के विधायकों को 30-30 करोड़ का ऑफर भाजपा ने दिया है, ऐसा आरोप मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल लगाते हैं । वे शीघ्र ही राष्ट्रपति से भी ऑपरेशन लोटस को लेकर राष्ट्रपति से मिलने वाले हैं ।

दक्षिण भारत में भाजपा की मुख्य बाधा भाषा है । अभी उनका सारा फोकस तेलंगाना पर है । कई बार गृहमंत्री और प्रधानमंत्री वहां का दौरा कर चुके हैं । वे वहां के मुख्यमंत्री के लिए जिस भाषा और जो शब्दावली का प्रयोग कर रहे हैं, वह राजनैतिक जानकारों के अनुसार शिष्ट तो नहीं है । शायद आचरण संहिता का उल्लंघन ही हो । दलबदल भूल जाते हैं कि उनकी लायल्टी मतदाता के प्रति है । दक्षिण में भाजपा ज्यादातर सिने स्टारों पर भरोसा कर रही है । कमल हासन, चिरंजीवी, प्रकाश राज जैसे दक्षिण के सिने स्टार भाजपा का समर्थन कर रहे हैं । आगे समय बतलायेगा ।

RELATED ARTICLES

पुरानी पेंशन का चारा

पुरानी पेंशन योजना की समाप्ति का फैसला नव-उदारवादी नीतियों के कारण हुआ, जिन्हें देश ने लगभग आम सहमति के साथ स्वीकार कर लिया था।...

मोहन भागवत की नई पहल

वेद प्रताप वैदिक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत और अखिल भारतीय इमाम संघ के प्रमुख इमाम उमर इलियासी दोनों ही हार्दिक बधाई...

विपक्षी राज्यों में राज्यपालों की भूमिका

अजीत द्विवेदी इससे पहले शायद ही कभी विपक्ष शासित राज्यों में सरकार और राज्यपाल का ऐसा टकराव देखने को मिला होगा, जैसा अभी देखने को...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बड़ेथ के पास वाहन हुआ दुर्घटनाग्रस्त, SDRF ने 2 घायलों को किया रेस्क्यू

यमकेश्वर।  देर रात्रि थाना लक्ष्मणझूला द्वारा SDRF को सूचित किया गया कि ऋषिकेश से यमकेश्वर जाते समय यमकेश्वर रोड पर बड़ेथ के पास एक...

यूक्रेन के 15 फीसदी हिस्से पर कब्जे की तैयारी, राष्ट्रपति पुतिन करेंगे ऐलान

मॉस्को। रूस ने यूक्रेन के जिन इलाकों में कब्जा कर रखा है वहां जनमत संग्रह करवाया है। चार दिन चला यह जनमत संग्रह पूरा...

दक्षिण अफ्रीका टी20 शृंखला से बाहर हुए शमी

मुंबई। भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी कोरोनावायरस के कारण ऑस्ट्रेलियाई शृंखला के बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाली टी20 शृंखला से भी बाहर...

रिलायंस रिटेल ने खोला देश का पहला सेंट्रो स्टोर

नयी दिल्ली  ।  रिलायंस रिटेल ने सेंट्रो नाम से एक नए प्रकार के फैशन और लाइफस्टाइल स्टोर की शुरुआत की। इस स्टोर को मध्य...

कैलोरी बर्न करने का सबसे आसान तरीका है रस्सी कूदना, जानिए इसके बड़े स्वास्थ्य लाभ

रस्सी एक अच्छा कार्डियो व्यायाम है। रस्सी कूदने से तनाव कम होता है और मानसिक स्वास्थ्य बना रहता है। रस्सी कूदने से शरीर लचीला...

जहीर इकबाल के साथ म्यूजिक वीडियो में नजर आएंगी सोनाक्षी सिन्हा

बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा और जहीर इकबाल के रिश्ते की बातें लंबे समय से चल रही हैं। सोशल मीडिया पर अकसर दोनों की नजदीकियां...

शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए साइकिल मार्च

- 2 अक्टूबर को देहरादून से रामपुर तिराहा पहुंचेगा ‘प्रवासी-निवासी मार्च‘ - 20 शहरों के साइकिलिस्ट लेंगे भाग, एकजुट-एकमुट का प्रयास देहरादून। प्रवासी उत्तराखंडियों को एकजुट-एकमुट...

रुद्रप्रयाग में केदारनाथ से आगे मंदाकिनी ग्लेशियर में फंसा एक व्यक्ति, SDRF ने किया रेस्क्यू

रुद्रप्रयाग।  केदारनाथ पुलिस चौकी द्वारा SDRF को सूचित किया गया कि केदारनाथ धाम से 06 किमी आगे एक व्यक्ति मंदाकिनी ग्लेशियर के पास फंसा...

धामी सरकार ने तबादलों के नियम बदलकर दी कर्मचारियों को बड़ी राहत, जानिए नये नियमों से कैसे होंगे तबादले 

देहरादून। उत्तराखंड की धामी सरकार ने तबादलों के नियम बदलकल कर्मचारियों को बड़ी राहत दी है। राज्य में परिवहन, माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा, सिंचाई,...

अंकिता भंडारी हत्याकांड: अभद्र टिप्पणी करने को लेकर गुस्साएं लोगों ने हरिद्वार- देहरादून हाइवे पर लगाया जाम

देहरादून। अंकिता भंडारी हत्याकांड को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े विपिन कर्णवाल की ओर से इंटरनेट मीडिया पर की गई अभद्र टिप्पणी को लेकर...