Breaking News
सीएम धामी ने जन समस्याओं के त्वरित समाधान के लिये अधिकारियों को दिये निर्देश
दिल्ली में केदारनाथ मंदिर के प्रतीकात्मक निर्माण को लेकर तीर्थपुरोहितों में आक्रोश
बार-बार सर्दी जुकाम सिर्फ इम्युनिटी कमजोर होने के लक्षण नहीं बल्कि इन बीमारियों के हो सकते हैं संकेत
डोनाल्ड ट्रंप पर की गई गोलीबारी, एक शूटर को सीक्रेट सर्विस ने मार गिराया
अमरनाथ नंबूदरी बने श्री बदरीनाथ धाम के प्रभारी रावल
पैथोलॉजी लैब संचालिका के साथ दुष्कर्म के प्रयास के मामले में राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने लिया संज्ञान 
उपचुनाव में भाजपा को बड़ा झटका, जानिए 13 विधानसभा सीटों का फाइनल रिजल्ट
देहरादून स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने जीता स्कॉच अवार्ड 2024
महासंघ ने कठुआ हमले में शहीदों की याद में किया वृक्षारोपण

पुलिस ने 11 लाख की ठगी करने वाले अन्तर्राज्यीय गैंग के सदस्य को मथुरा से दबोचा

कोटद्वार, पौड़ी। विगत 10 अप्रैल को ग्राम कुल्लू भंवारी, पोस्ट चौपड़ियूं जिला पौड़ी निवासी श्रीमती सुनीता ने कोतवाली पौड़ी में दर्ज कराई गई रिपोर्ट में बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन द्वारा उसे कम ब्याज दर पर लोन देने और लोन की धनराशि को दुगुना करने के नाम पर 11 लाख रुपए की धोखाधड़ी की है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी लोकेश्वर सिंह द्वारा आम जनमानस के साथ हो रही धोखाधड़ी की घटनाओं को गम्भीरता से लेते हुए थानाध्यक्ष पौड़ी को टीम गठित करने के निर्देश दिए। जांच के दौरान प्रकाश में आया कि लोन दिलाने वाली ये गैंग बिहार और राजस्थान से संचालित हो रही है।

पुलिस टीम द्वारा अलग अलग प्रदेशों में दबिश देकर अथक प्रयासों के बाद अभियुक्त हथिया, तहसील छाता, थाना बरसाना, जनपद मथुरा उप्र निवासी हरून पुत्र सपत को आज मथुरा से गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश कर जेल भेज दिया गया है।अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि हम लोग उत्तराखण्ड, हिमाचल प्रदेश के नम्बरों पर व्हाट्सएप व काल के माध्यम से सस्ती ब्याज दरों पर लोगों को लोन दिलाने का लालच देते हैं। साथ ही लोन की धनराशि को बिना प्रोसेसिंग शुल्क के दुगुना लोन के लिये भी लालच देते हैं, जिसमें लोग लालच में आ जाते हैं।

शुरुआत में प्रोसेसिंग फीस दो हजार से शुरुआत करते-करते हम लोगों को तरह-तरह का लालच देकर लोगों का माइंड बातों ही बातों में वाश करते हुये उनसे लाखों रुपये गूगल पे, फोन पे के माध्यम से अपने खातों में डलवाते हैं। जब हमें विश्वास होता है कि इसने पुलिस में हमारी रिपोर्ट दर्ज करवा दी है तो हम मोबाईल नम्बरों को बन्द कर उन सिमों को तोड़ देते हैं। पुलिस टीम उपनिरीक्षक मुकेश गैरोला, मुख्य आरक्षी धीरज सिंह, आरक्षी अमरजीत सिंह साईबर सैल कोटद्वार शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top